Home   »   Current Affairs 2024   »   Daily Current Affairs for UPSC

डेली करंट अफेयर्स for UPSC – 25 May 2023

डेली करंट अफेयर्स फॉर UPSC 2023 in Hindi

प्रश्न हाल ही में समाचारों में देखा गया, ‘सेंगोलशब्द निम्नलिखित में से किस एक से सबसे अच्छा संबंधित है?

  1. एक मेसोलिथिक साइट
  2. भूमि अनुदान के बारे में बताने वाला ताम्रपत्र
  3. सत्ता के हस्तांतरण के दौरान इस्तेमाल किया जाने वाला एक ऐतिहासिक राजदंड
  4. संगम युग में मछुआरा समुदाय से एकत्र किया गया कर

डेली करंट अफेयर्स for UPSC – 24 May 2023

व्याख्या:

  • विकल्प (3) सही है: नए संसद भवन के आगामी उद्घाटन में, एक महत्वपूर्ण वस्तु जिसे सेंगोलराजदंड कहा जाता है, एक प्रमुख स्थान पर स्थापित किया जाएगा। सेंगोलराजदंड का महत्वपूर्ण ऐतिहासिक महत्व है क्योंकि यह ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन से अधिकार सौंपने का प्रतिनिधित्व करने हेतु भारत के प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को उपहार में दिया गया था। सत्ता के प्रतीकात्मक हस्तांतरण के लिए सेंगोल‘  राजदंड का उपयोग करने का विचार तब उभरा जब ब्रिटिश भारत के तत्कालीन वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन ने एक उपयुक्त प्रतीक के बारे में पूछताछ की। भारत के अंतिम गवर्नर-जनरल, सी.राजगोपालाचारी से सलाह लेते हुए, यह राजगोपालाचारी ही थे जिन्होंने सेंगोल‘   राजदंड के उपयोग का सुझाव दिया था। चोल वंश में इसी तरह के एक समारोह से प्रेरित होकर, जहां राजाओं के बीच सत्ता का हस्तांतरण होता था, राजगोपालाचारी का मानना ​​था कि सेंगोलभारत के लिए एक उपयुक्त प्रतीक होगा।

प्रश्न छोटे मॉड्यूलर रिएक्टरों (SMRs) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. पिघला हुआ नमक एसएमआर आमतौर पर ब्रोमाइड को शीतलक के रूप में उपयोग करता है।
  2. SMR को मौजूदा पावर ग्रिड के अलावा दूर-दराज के इलाकों में आसानी से तैनात किया जा सकता है।
  3. हाल ही में, नीति आयोग द्वारा ऊर्जा संक्रमण में छोटे मॉड्यूलर रिएक्टरों की भूमिका पर एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई थी।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा/से सही है/हैं?

  1. केवल 1 और 2
  2. केवल 1 और 3
  3. केवल 2 और 3
  4. 1, 2 और 3

व्याख्या:

  • कथन 1 गलत है: छोटे मॉड्यूलर रिएक्टरों (एसएमआर) को 1940-1950 के दशक में देखा जा सकता है जब सैन्य उद्देश्यों के लिए विभिन्न डिजाइनों के छोटे क्षमता वाले परमाणु रिएक्टरों का उपयोग किया जाता था। IAEA के अनुसार, SMR 30MWe से 300+ MWe से कम बिजली उत्पादन क्षमता वाले उन्नत परमाणु रिएक्टर हैं। पिघला हुआ नमक रिएक्टर एसएमआर शीतलक की भूमिका में पिघला हुआ फ्लोराइड या क्लोराइड नमक पर आधारित होता है।
  • कथन 2 सही है: SMRs में जनता और पर्यावरण की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उन्नत सुरक्षा सुविधाएँ शामिल हैं। इन सुविधाओं में निष्क्रिय शीतलन प्रणाली, उन्नत नियंत्रण तंत्र और मजबूत रोकथाम संरचनाएं शामिल हैं। उनका छोटा आकार और मॉड्यूलर प्रकृति उन्हें दूरस्थ क्षेत्रों में तैनाती के लिए या मौजूदा पावर ग्रिड के पूरक के रूप में उपयुक्त बनाती है, जिससे ग्रिड लचीलापन बढ़ता है।
  • कथन 3 सही है: हाल ही में, नीति आयोग ने ऊर्जा संक्रमण में छोटे मॉड्यूलर रिएक्टरों की भूमिकाशीर्षक से एक रिपोर्ट प्रकाशित की। एसएमआर का मॉड्यूलर डिजाइन मानकीकृत निर्माण प्रक्रियाओं की अनुमति देता है, संभावित रूप से निर्माण लागत को कम करता है। SMR विकेंद्रीकृत बिजली उत्पादन की क्षमता प्रदान करते हैं, जिससे समुदायों या उद्योगों को बिजली के अपने स्थानीय स्रोत रखने की अनुमति मिलती है।

प्रश्न जिला न्यायालयों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. उच्च न्यायालय के परामर्श से राज्यपाल द्वारा जिला न्यायाधीश की नियुक्ति की जाती है।
  2. सत्र न्यायालय के पास किसी अभियुक्त को मृत्युदंड देने की शक्ति नहीं है।
  3. लघु वादन्यायालयों के निर्णयों के विरुद्ध उच्च न्यायालय में अपील की जा सकती है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा/से सही है/हैं?

  1. केवल 1
  2. केवल 1 और 2
  3. केवल 2 और 3
  4. 1, 2 और 3

व्याख्या:

  • कथन 1 सही है: भारतीय संविधान के भाग VI में अनुच्छेद 233 से 237 अधीनस्थ न्यायालयों के संगठन को विनियमित करते हैं और कार्यपालिका से उनकी स्वतंत्रता सुनिश्चित करते हैं। जिला न्यायाधीशों की नियुक्ति राज्यपाल द्वारा उच्च न्यायालय के परामर्श से की जाती है। जिला न्यायाधीशों की योग्यता:
  • वह पहले से ही केंद्र या राज्य सरकार की सेवा में नहीं होना चाहिए
  • उसे सात साल तक अधिवक्ता या प्लीडर होना चाहिए था
  • उनकी नियुक्ति के लिए उच्च न्यायालय द्वारा अनुशंसा की जानी चाहिए।
  • कथन 2 और 3 गलत हैं: सिविल कोर्ट संपत्ति, तलाक, अनुबंध, और समझौते के उल्लंघन या मकान मालिक-किरायेदार विवादों के संबंध में दो या अधिक व्यक्तियों के बीच विवादों से संबंधित मामलों से निपटते हैं। जिला न्यायाधीश का न्यायालय दीवानी मामलों से निपटने के लिए जिले का सर्वोच्च दीवानी न्यायालय है। इस अदालत के फैसलों के खिलाफ अपील राज्य के उच्च न्यायालय द्वारा सुनी जा सकती है। पारिवारिक अदालतें, जो उप-न्यायाधीशों की अदालतों के बराबर हैं, विशेष रूप से पारिवारिक विवादों के मामलों की सुनवाई करती हैं, जैसे तलाक, बच्चों की कस्टडी, आदि। मुंसिफ और छोटे मामलों की अदालतें छोटी-मोटी राशि वाले मामलों का फैसला करती हैं। लघुवाद न्यायालयों के निर्णयों के विरुद्ध कोई अपील नहीं की जा सकती। सत्र न्यायाधीश का न्यायालय (सत्र न्यायालय के रूप में जाना जाता है) एक जिले में आपराधिक मामलों के लिए सर्वोच्च न्यायालय है। एक आरोपी को सत्र न्यायालय द्वारा मौत की सजा दी जा सकती है और उच्च न्यायालय द्वारा उसकी सजा की पुष्टि होने के बाद ही उसे फांसी दी जा सकती है।

प्रश्न राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थानों के लिए वैश्विक गठबंधन (GANHRI) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. राष्ट्रीय स्तर पर मानव अधिकार संस्थानों को मान्यता देने के लिए गनहरी जिम्मेदार है।
  2. यह संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन के तहत एक विशेष एजेंसी है।
  3. यह दुनिया भर में मानवाधिकार संस्थानों के मानकों के विकास से संबंधित पेरिस सिद्धांतोंको कायम रखता है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा/से सही है/हैं?

  1. केवल 1 और 2
  2. केवल 1 और 3
  3. केवल 3
  4. 1, 2 और 3

व्याख्या:

  • कथन 1 सही है लेकिन कथन 2 गलत है: नेशनल ह्यूमन राइट्स इंस्टीट्यूशंस (GANHRI) के लिए ग्लोबल एलायंस को एक गैर-लाभकारी संस्था (स्विस कानून के तहत) के रूप में गठित किया गया है और संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त मानवाधिकार (OHCHR) के कार्यालय द्वारा सचिवालय सहायता प्रदान की जाती है। यह NHRIs और UN मानवाधिकार प्रणाली के बीच संबंधों का समन्वय करता है। GANHRI हर पांच साल में पेरिस सिद्धांतों के अनुपालन में राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थानों की समीक्षा करने और उन्हें मान्यता देने के लिए जिम्मेदार है।
  • कथन 3 सही है: पेरिस सिद्धांत (1991) दुनिया भर में राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थानों के मानकों के विकास में एक महत्वपूर्ण कदम है। पेरिस सिद्धांत छह मुख्य मानदंड निर्धारित करते हैं, ये हैं, जनादेश और क्षमता; सरकार से स्वायत्तता; एक क़ानून या संविधान द्वारा गारंटीकृत स्वतंत्रता; बहुलवाद; पर्याप्त संसाधन; और जांच की पर्याप्त शक्तियां।

प्रश्न ‘अपतटीय फंड्सके संदर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. ये फंड विदेशों की इक्विटी में निवेश करते हैं।
  2. इन फंडों के निवेशक मुद्रा में उतार-चढ़ाव से सीधे प्रभावित नहीं होते हैं।
  3. हाल ही में, भारत-केंद्रित अपतटीय निधियों के प्रवाह में लगभग 10 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा/से सही नहीं है/हैं?

  1. केवल 1 और 2
  2. केवल 2
  3. केवल 1 और 3
  4. केवल 2 और 3

व्याख्या:

  • कथन 1 सही है: अपतटीय फंड विदेशी और बहुराष्ट्रीय कंपनियों में निवेश करते हैं। अपतटीय फंड म्युचुअल फंड योजनाएं हैं जो विदेशी या अंतरराष्ट्रीय बाजारों में निवेश करती हैं। उन्हें विदेशी फंड या इंटरनेशनल फंड भी कहा जाता है। ये योजनाएं किसी विदेशी देश या क्षेत्र की इक्विटी, या विदेशी देशों की निश्चित आय प्रतिभूतियों में निवेश करती हैं। भारतीय निवेशक केवल भारतीय रुपये में ही निवेश कर सकते हैं।
  • कथन 2 गलत है: भारतीय रुपये के मुकाबले अन्य बाजारों की मुद्रा के मूल्य में उतार-चढ़ाव के कारण, निवेशकों को मुद्रा जोखिम का सामना करना पड़ता है क्योंकि कोई भी उतार-चढ़ाव फंड के शुद्ध संपत्ति मूल्य (एनएवी) को सीधे प्रभावित करेगा।
  • कथन 3 गलत है: जनवरी-मार्च 2023 में भारत-केंद्रित अपतटीय फंड और एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) में 9 प्रतिशत की तिमाही-दर-तिमाही गिरावट देखी गई, जो कि 803 मिलियन अमेरिकी डॉलर थी। अपतटीय म्यूचुअल फंड भारत को और अधिक दे सकते हैं। क्षेत्रीय विविधीकरण। निवेशक अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों और व्यवसायों तक सीधी पहुंच और प्रदर्शन का आनंद लेते हैं। म्यूचुअल फंड टैक्स नियमों के मुताबिक विदेशी फंड डेट कैटेगरी में आते हैं।

Sharing is caring!

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *